PSC GS ATOM

A Complete free Guidance to get a PSC white collar job.We provides Study Materials , important points based on exam syllabus. Which we think our readers shoud not miss. For any PSC exams, we provide NCERT Based notes, study material, Current Affairs, Daily News, History, Geography,Polity,Economy,Science notes, Model Papers and all other study material which is important for UPPCS, SSC, UPSC, MPPSC, BPSC, RPSC, RO/ARO and other state Exam.

Breaking

Monday, June 4, 2018

PHYSICS FAQs part-1

PHYSICS, FAQs for UPSC, UPPSC, RPSC, MPPSC

परीक्षाओं में आने वाले महत्वपूर्ण तथ्य :- भाग १ 
  • कार्य का मात्रक - जूल 
  • प्रकाशवर्ष इकाई है - दूरी की 
  • एम्पियर मात्रक है   - विद्युत् धारा 
  • केन्डिला मात्रक है - ज्योति तीव्रता 
  • पारसेक इकाई है - दूरी की 
  • दाब का मात्रक है - पास्कल 
  • बल = द्रव्यमान * त्वरण 
  • कार्य एवं ऊर्जा के विमा सूत्र समान हैं। 
  • आवेग , संवेग के विमा सूत्र समान हैं। 
  • भार , बल के विमीय सूत्र समान हैं। 
  • पदार्थ के संवेग एवं वेग के अनुपात से द्रव्यमान प्राप्त होता है। 
  • शून्य में स्वतंत्र रूप से गिरने वाली वस्तु का त्वरण समान होता है। 
  • रॉकेट, एवेगाड्रो परिकल्पना पर कार्य करता है। 
  • अश्व एकाएक चले तो अश्वरोही गिर सकता है जिसका कारण विश्राम जड़त्व होता है। 
  • चलती बस में अचानक ब्रेक लगने पर यात्री आगे गिर सकता है इसका कारण - न्यूटन का प्रथम नियम 
  • शरीर का वजन ध्रुवों पर अधिकतम होता है। 
  • किसी मनुष्य का भार पृथ्वी पर 600 N है तो चन्द्रमा पर 1/6  अर्थात 100 N होगा। 
  • पृथ्वी की सतह पर किसी का भार 29.4  न्यूटन है तो द्रव्यमान 3 kg होगा। 
  • अंतरिक्ष यात्री पृथ्वी की तुलना में चन्द्रमा पर अधिक ऊँची छलांग लगा सकता है क्यूंकि वहां पृथ्वी की तुलना में गुरुत्वाकर्षण कम है। 
  • 1 Kg = 9.8 N द्रव्यमान 
  • जड़त्व आघूर्ण * कोणीय त्वरण  = टॉर्क 
  • यदि तापमान 9 डिग्री सेंटीग्रेड से 3 डिग्री सेंटीग्रेड कर दिया जाय तो जल के आयतन में क्या होगा ? - आयतन  पहले घटेगा फिर बढ़ेगा। 
  • बीकर में पानी पर बर्फ तैरती है पूर्णतया पिघलने के बाद भी पानी का तल पूर्ववत ही रहता है। 
  • बोतल का पानी जमने पर बोतल टूट जाती है क्यूंकि पानी जमने पर  आयतन फैलता है। 
  •  सड़क की अपेक्षा बर्फ पर चलना कठिन है क्यूंकि घर्षण कम होता है। 
  • नदी में चलता जहाज जब समुद्र में आता है तो थोड़ा ऊपर हो जाता है। 
  • लोहे की कील पानी  पर तैरती है जबकि पानी में डूब जाती है क्यूंकि लोहे का घनत्व पानी से अधिक है एवं पारे से कम होता है। 
  • पानी का घनत्व अधिकतम होता है - 4 डिग्री से०ग्रे० पर 
  • वस्तु की मात्रा बदलने पर घनत्व अपरिवर्तित रहता है। 
  • समुद्र ,में तैरते आईसबर्ग का 1/9 वां हिस्सा सतह से ऊपर होता है। 
  • बर्फ के दो टुकड़ों को आपस में दबाने पर टुकड़े चिपक जाते हैं क्यूंकि दाब की वजह से गलनांक घट जाता है। 
  •  हवाई जहाज से यात्रा करते समय पेन से स्याही निकलने लगती है ,-- वायुदाब में कमी के कारण। 
  • ऊंचाई पर पानी 100 डिग्री से०ग्रे० से नीचे उबलता है क्यूंकि वायुमंडलीय दाब कम हो जाता है अतः उबलने का बिंदु नीचे आ जाता है। 
  • साबुन के बुलबुले के अंदर का दाब वायुमंडलीय दाब से अधिक होता है। 
  • वायुदाबमापी की रीडिंग में अचानक गिरावट मतलब मौसम तूफानी होगा। 
  • प्रेशर कुकर में खाना जल्दी पकता है - अधिक दाब पर पानी उच्च तापक्रम पर उबलता है। 
  • हाइड्रोजन से भरा रबड़ का गुब्बारा वायु में जाकर फट जाता है क्यूंकि वायुदाब घट जाता है। 
  • सूर्य में निरंतर ऊर्जा सृजन - नाभिकीय संलयन  की प्रक्रिया से होता है। 
  •  चाभी भरी घड़ी  में  स्थितिज ऊर्जा होता है। 
  • जब हम गद्दे पर बैठते हैं तो स्थितिज ऊर्जा के कारण आकार बदल जाता है 
  • खींचे हुए धनुष में गतिज ऊर्जा नहीं होती बल्कि स्थितिज ऊर्जा होती है। 
  • जब वस्तु की चाल दुगनी हो जाए तो गतिज ऊर्जा 4 गुना हो जाती है। 
  • ऊर्जा संरक्षण का नियम :- द्रव्य का न तो सृजन किया जा सकता है ,न विनाश। 
  • साइकिल चलाने  वाला मोड़ पर झुकता है ताकि गुरुत्व केंद्र आधार के अंदर बना रहे एवं वह गिरे नहीं। 
  • दूध से क्रीम निकालने में - अपकेंद्री बल काम करता है। 
  • जब किसी पत्थर को चाँद की सतह से पृथ्वी पर लाया जाय तो -भार बदल जाएगा लेकिन द्रव्यमान वही रहेगा। 
  • लिफ्ट में व्यक्ति को भार अधिक मालूम पड़ता है जबकि लिफ्ट त्वरित गति से ऊपर जाती है। 
  • जब लिफ्ट त्वरण के साथ नीचे जाती है तो लिफ्ट में प्रत्यक्ष भार वास्तविक भार से कम होता लगता है । 
  • पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण का 1 /6  भाग चन्द्रमा का गुरुत्वाकर्षण है। 

No comments:

Post a Comment

Recent Post

GUPTA EMPIRE

मौर्य सम्राज्य के विघटन के बाद भारत में दो बड़ी राजनैतिक शक्तियां उभर कर आई सातवाहन और कुषाण।  सातवाहनों ने दक्षिण में स्थायित्व प्रद...